अच्छे मानसून से बढ़ेगी रूरल डिमांड, 6 शेयरों में मिल सकता है 46% तक रिटर्न

ripplesadvisory

29 मई को केरल में मानसून के दस्तक देते ही शेयर मार्केट में कई शेयरों में हलचल देखने को मिली है। मानसून से जुड़े शेयरों मसलन एफएमसीजी, रूरल व एग्री सेक्टर और ऑटो कंपनियों के कुछ शेयरों में तेजी देखी गई। एक्सपर्ट्स का कहना है कि मानसून के ताजा अपडेट ने शेयर बाजार में तेजी की उम्‍मीद जगा दी है। उनका कहना है कि अच्‍छे मानसून से ग्रामीण क्षेत्रों में पर्चेजिंग पावर बढ़ती है, जिससे देश की एफएमसीजी, ऑटो, कंज्यूमर-ड्यूरेबल, एनबीएफसी और रूरल व एग्री से जुड़ी तमाम कंपनियों के कारोबार पर पॉजिटिव असर पड़ता है।

जल्द पूरे देश को कवर कर लेगा मानसून 

मंगलवार को केरल में मानसून के 3 दिन पहले ही टकरा जाने के साथ मौसम विभाग ने फिर देश में सामान्य मानसून रहने की बात कही है। मौसम विभाग के अनुसार जून में देश के 80 फीसदी हिस्सों को औक्‍र जुलाई के पहले हफ्ते में 100 फीसदी हिस्सों को मानसून कवर कर लेगा। मौसम विभाग ने इस साल सामान्य से 97 फीसदी बारिश की उम्मीद जताई है। जानकार इसे देश की इकोनॉमी के लिहाज से बेहतर खबर बता रहे हैं।

स्टॉक मार्केट से मानसून का रिलेशन  

फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर के मुताबिक, देश की इकोनॉमी मानसून पर बहुत हद त‍क डिपेंड है। वहीं, स्टॉक मार्केट के लिहाज से मानसून और कई कंपनियों के प्रदर्शन में भी मजबूत रिलेशन है। अच्छे मानसून का मतलब है कि उन कंपनियों का प्रदर्शन बेहतर रह सकता है, जिसका फायदा स्टॉक मार्केट को होता है। मौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार मानसून देश के अलग-अलग हिस्सों में सामान्य तौर डिस्ट्रीब्यूट होगा। इसका सीधा मतलब है कि अच्छी खेती से किसानों और ग्रामीण इलाकों में रहने वालों की आय बढ़ेगी। ग्रामीण इलाकों की आय बढ़ने से उनकी पर्चेजिंग पावर बढ़ेगी, जिससे डिमांड स्टोरी फिर तेजी होगी।

रूरल सेक्टर से जुड़े शेयरों को फायदा 

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि केरल में मानसून के समय से पहले आने से एग्रीकल्चर सेक्टर के लिए सेंटीमेंट पॉजिटिव होंगे। सीड्स, फर्टिलाइजर, कृषि के उपकरण, पंप सिस्टम, ट्रैक्टर की मांग बढ़ने लगती है। ऐसे में यूपीएल, कोरोमंडल इंटरनेशनल, चंबल फर्टिलाइजर, दीपक फर्टिलाइजर और आरसीएफ के शेयरों में तेजी देखने को मिल सकती है। फार्म प्रोडक्शन बढ़ने से पैकेज्ड फूड कंपनियों को रॉ मैटेरियल सस्ते में मिलता है। इसका फायदा ब्रिटानिया, नेसले और जीएसके कंज्यूमर्स को मिल सकता है।

NBFC, FMCG और ऑटो शेयरों को फायदा 

ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन का कहना है कि ग्रामीण इलाकों की आय बढ़ती है तो  रोजमर्रा में इस्तेमाल होने वाली चीजों पर रूरल एरिया में खर्च बढ़ जाता है। वहीं, ग्रामीण इलाकों से व्हीकल की डिमांड भी तेज होती है। खासतौर से इसका फायदा टू-व्हीलर कंपनियों को होता है। वहीं ऑटो लोन की डिमांड बढ़ने से एनबीएफसी कंपनियों को फायदा मिलने की उम्मीद है। ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक बेहतर मानसून से एचयूएल, कोलगेट, डाबर और ईमामी जैसी कंपनियों के शेयरों में तेजी आ सकती है।

Two days Free Trials and best services packages  for dealing in Stock market click here to get >>Ripples Advisory  One Missed call on @9644405056

Please follow and like us:
20