आईओसी का मुनाफा 47% घटकर 3596 करोड़ रु रह गया, इन्वेन्ट्री गेन घटने का असर

पिछले साल जून तिमाही में 6831 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था रेवेन्यू 1.50 लाख करोड़ रुपए रहा, 2018 की जून तिमाही के बराबर

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) का मुनाफा अप्रैल-जून में 47% घटकर 3,596.11 करोड़ रुपए रह गया। कंपनी ने बुधवार को तिमाही नतीजे घोषित किए। पिछले साल की जून तिमाही में 6,831.13 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था। रिफायनरी मार्जिन और इन्वेन्ट्री गेन में गिरावट आने की वजह से मुनाफे पर असर पड़ा।

जीआरएम घटकर 4.69 डॉलर प्रति बैरल रह गया
इन्वेन्ट्री गेन 2018 की जून तिमाही के 7,065 करोड़ रुपए के मुकाबले इस साल अप्रैल-जून में 2,362 करोड़ रुपए रह गया। कंपनी की खरीद के बाद अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ जाते हैं तो कंपनी को फायदा होता है। क्योंकि वह प्रोसेस्ड ऑयल खरीद कीमत से ज्यादा पर बेचती है। इस मुनाफे को इन्वेन्ट्री गेन कहा जाता है। लेकिन, ज्यादा खरीद के बाद क्रूड के रेट कम होते हैं तो कंपनी को इन्वेन्ट्री लॉस होता है।

आईओसी का रेवेन्यू 1.50 लाख करोड़ रहा। यह लगभग पिछले साल की जून तिमाही के रेवेन्यू के बराबर ही है। ग्रॉस रिफाइनिंग मार्जिन (जीआरएम) 10.21 डॉलर प्रति बैरल से घटकर 4.69 डॉलर प्रति बैरल रह गया।

आईओसी के चेयरमैन संजीव सिंह ने बताया कि अप्रैल-जून में कंपनी ने 2.26 करोड़ टन प्रोडक्ट बेचे। 1.72 करोड़ टन क्रूड ऑयल प्रोसेस किया। कंपनी की पाइपलाइंस के जरिए देशभर में 2.18 करोड़ टन सप्लाई किया।

!!!! कम वैल्यूएशन पर क्वालिटी स्टॉक, डिस्काउंट पर डिविडेंड ग्रोथ और आकर्षक कीमत पर हाई ग्रोथ यहां क्लिक करें और देखें- Stock Cash Trading Tips हमें कॉल करे अभी- 9644405057

Please follow and like us:
20