गिरावट से 5 स्टॉक्स में बने मौके, 92% तक रिटर्न के लिए कर सकते हैं निवेश

अच्छे फंडामेंटल के बावजूद बड़ी कंपनियों के स्टॉक्स भी टूट रहे हैं। ऐसे में कुछ स्टॉक्स की वैल्युएशन आकर्षक हो गई है।

ripplesadvisory

वर्ष 2018 की शुरुआत के साथ स्टॉक मार्केट में आई अनिश्चितता कई स्टॉक्स पर भारी पड़ी है। अच्छे फंडामेंटल के बावजूद कई बड़ी कंपनियों के स्टॉक्स लगातार टूट रहे हैं। हालांकि इस गिरावट के साथ कुछ स्टॉक्स की वैल्युएशन आकर्षक हो गई है। मनीभास्कर आपको ऐसे 5 स्टॉक्स के बारे में बता रहा है, जिनमें निवेश के अच्छे मौके हैं और कई ब्रोकरेज हाउसेस ने भी इनमें खरीद की राय दी है।

सेंटीमेंट बिगड़ने से अच्छे फंडामेंटल वाले स्टॉक्स में भी आती है गिरावट
असल में कुछ स्टॉक्स के फंडामेंटल मजबूत होने के बावजूद उन पर खराब सेंटीमेंट से प्रेशर बढ़ता है और गिरावट आती है। ऐसे में उनकी वैल्युएशन आकर्षक हो जाती है। ब्रोकरेज हाउस इन स्‍टॉक्‍स में लॉन्ग टर्म के लिए खरीददारी की सलाह देते हैं। इन शेयरों में एक जनवरी से 7 जून के बीच के रेट को ध्‍यान में रखा गया है।

ग्रेनुअल्स इंडिया लि.
रिटर्न- 92 फीसदी

2018 में ग्रेनुअल्स इंडिया के स्टॉक में लगभग 43 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। इसके बावजूद ब्रोकरेज हाउसेस का इसके प्रति भरोसा बरकरार है। ब्रोकरेज फर्म सेंट्रम रिसर्च ने ग्रेनुअल्स इंडिया के लिए 150 रुपए का टारगेट दिया है, जो मौजूदा प्राइस 78 रुपए से लगभग 92 फीसदी ज्यादा है। ब्रोकरेज हाउस के मुताबिक आगे कंपनी के प्रदर्शन में सुधार का अनुमान है।

हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन
रिटर्न- 75 फीसदी

2018 की शुरुआत से हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (एचपीसीएल) का शेयर लगातार टूट रहा है। क्रूड की कीमतें चढ़ने के बाद यह गिरावट और बढ़ गई है। इसके चलते इस साल एचपीसीएल का स्टॉक लगभग 25 फीसदी टूट चुका है। इसके बावजूद ब्रोकरेज हाउस कंपनी पर भरोसा जता रहे हैं। एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने एचपीसीएल के लिए 550 रुपए का टारगेट दिया है, जो मौजूदा प्राइस 315 रुपए की तुलना में 75 फीसदी ज्यादा है। इस प्रकार 1-2 साल में इस स्टॉक पर 75 फीसदी तक रिटर्न हासिल किया जा सकता है।

ब्रोकरेज हाउस ने कहा कि निकट भविष्य में स्टॉक पर प्रेशर देखने को मिल सकता है। हालांकि हाल में आई तेज गिरावट से स्टॉक का वैल्युएशन आकर्षक हो गया हैं।

करूर वैश्य बैंक
रिटर्न- 27 फीसदी

करूर वैश्य बैंक का स्टॉक इस साल की शुरुआत से लगातार गिर रहा है। 1 जनवरी, 2018 से अब तक करूर वैश्य बैंक के स्टॉक में लगभग 16 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। इसके बावजूद ब्रोकरेज हाउस एक्सिस डायरेक्ट करूर के लिए 132 रुपए का टारगेट दिया है, जो मौजूदा प्राइस 104 रुपए की तुलना 27 फीसदी ज्यादा है।

एक्सेस डायरेक्ट के मुताबिक मार्च, 2018 में समाप्त क्वार्टर के दौरान कंपनी का प्रॉफिट 55 फीसदी बढ़कर 218 करोड़ रुपए हो गया। इसके आगे और बढ़ने का अनुमान है।

महानगर गैस
रिटर्न- 14 फीसदी

2018 में महानगर गैस के स्टॉक में 33 फीसदी की गिरावट आ चुकी है, जिससे इस स्टॉक का वैल्युएशन निवेश के लिहाज से खासा आकर्षक हो गया है। इसे देखते हुए ब्रोकरेज हाउस केआर चौकसी ने महानगर गैस के स्टॉक्स के लिए 940 रुपए का टारगेट दिया है, जो 827 रुपए के मौजूदा प्राइस की तुलना में लगभग 14 फीसदी ज्यादा है।

सन फार्मा
रिटर्न- 11 फीसदी

ब्रोकरेज हाउस केआर चौकसी ने सन फार्मा के लिए 539 रुपए का टारगेट दिया है। मौजूदा प्राइस 488 रुपए की तुलना में यह 11 फीसदी ज्यादा है। इस प्रकार लगभग एक साल में इस स्टॉक में 11 फीसदी रिटर्न हासिल किया जा सकता है।
यह इसलिए भी अहम है, क्योंकि फार्मा सेक्टर लंबे समय से मुश्किल दौर से गुजर रहा है। इसका असर सन फार्मा पर भी पड़ रहा है। इस साल 1 जनवरी से 7 जून तक कंपनी के स्टॉक में लगभग 15 फीसदी की गिरावट आ चुकी है। हालांकि अमेरिकी मार्केट के दम पर कंपनी के रेवेन्यू में बढ़ोत्तरी के संकेत मिले हैं। मार्च में समाप्त क्वार्टर के दौरान अमेरिका से होने वाला रेवेन्यू 11 फीसदी बढ़ा। अमेरिकी मार्केट में सुधार से कंपनी के प्रदर्शन में सुधार देखने को मिल सकती है।

(नोट- निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं। कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें। मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है।)

Please follow and like us:
20

About admin

The stock market refers to any market arena where dealings of securities including equities, bonds, currencies, and derivatives occurs. Ripples Advisory Private Limited, Indore is the one who undertakes a wide range of competence, and our client’s services are boosts by our knowledge of regional risks and markets to inform the quirky financial, risk managing and regulatory appeals that they face.
View all posts by admin →