घर-घर पीएनजी पहुंचाने में गेल इंडिया करेगी 45,000 करोड़ का निवेश

अगले पांच साल में होगा यह निवेश 11,000 किलोमीटर के पाइपलाइन नेटवर्क का संचालन करती है कंपनी

सरकारी कंपनी गेल इंडिया लिमिटेड नेशनल गैस ग्रिड और सिटी गैस वितरण नेटवर्क का विस्तार करने के लिए अगले पांच साल में 45,000 करोड़ से अधिक का निवेश करेगी। कंपनी के चेयरमैन आशुतोष कर्नाटक ने मंगलवार को यह बात कही। उन्होंने कंपनी के शेयरधारकों की सालाना आम बैठक में कहा कि अभी आपकी कंपनी प्रमुख परियोजनाओं में 5,700 किलोमीटर से अधिक का काम कर प्राकृतिक गैस पाइपलाइन नेटवर्क का विस्तार कर रही है। गेल फिलहाल 11,000 किलोमीटर के पाइपलाइन नेटवर्क का संचालन करती है और देश में बिकने वाली संपूर्ण प्राकृतिक गैस में दो-तिहाई का योगदान करती है।

देशभर में सीएनजी-पीएनजी पाइपलाइन का होगा विस्तार
उन्होंने कहा कि अगले कुछ साल में 45,000 करोड़ रुपये से अधिक निवेश करने की योजना है। यह निवेश देशभर में पाइपलाइन परियोजनाओं में होगा। इनमें ऊर्जा गंगा परियोजना, कोच-कूटानंद-बेंगलुरु-मैंगलोर, इंद्रधनुष नॉर्थ ईस्ट गैस ग्रिड और अन्य महत्वपूर्ण पाइपलाइन शामिल हैं, जो नेशनल गैस ग्रिड के तहत आपूर्ति और मांग के महत्वपूर्ण केंद्रों को जोड़ती हैं। उन्होंने कहा कि यह निवेश अगले पांच साल में किया जाएगा। इनमें से 32,000 करोड़ रुपये पाइपलाइन बिछाने में और अन्य 12,000 करोड़ रुपये सिटी गैस वितरण (सीजीडी) नेटवर्क पर खर्च होंगे, जिसका उपयोग वाहनों को सीएनजी और घरों में पीएनजी पहुंचाने में होगा। इसके अलावा पेट्रोकमिकल प्लांट्स के विस्तार में भी कुछ निवेश होगा।

तीन से पांच साल में 10 लाख पीएनजी कनेक्शन देगी कंपनी
कंपनी तीन से पांच साल में 400 सीएनजी स्टेशन स्थापित करना चाहती है। इसके अलावा वह इस दौरान घरों में रिकॉर्ड 10 लाख पाइप्ड नेचुरल गैस (पीएनजी) कनेक्शन देना चाहती है। गैस आधारित अर्थव्यवस्था बनाने की सरकार की कोशिशों में मदद करने के लिए कंपनी इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार कर रही है। सरकार ऊर्जा बास्केट में प्राकृतिक गैस की हिस्सेदारी को वर्तमान 6.2 फीसदी से बढ़ाकर 2030 तक 15 फीसदी तक पहुंचाना चाहती है।

कम वैल्यूएशन पर क्वालिटी स्टॉक, डिस्काउंट पर डिविडेंड ग्रोथ और आकर्षक कीमत पर हाई ग्रोथ यहां क्लिक करें और देखें- Stock Cash Trading Tips

Please follow and like us:
20