राहत पैकेज की उम्मीद टूटने से सेंसेक्स 587 अंक लुढ़का

आर्थिक सुस्ती के बीच सरकार की ओर से राहत पैकेज की उम्मीद टूटने से गुरुवार को शेयर बाजारों में भूचाल आ गया। बीएसई का सेंसेक्स 587.44 अंक गिरकर 36,472.93 पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 177.35 अंक टूटकर 10,741.35 पर बंद हुआ। इस दौरान बैंकिंग और ऊर्जा शेयरों में भारी बिकवाली देखी गई। सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमणियन द्वारा आर्थिक राहत पैकेज मिलने की संभावना खारिज किए जाने से निवेशकों में शेयर बेचने के लिए भगदड़ मच गई।

यस बैंक करीब 14 फीसदी लुढ़का
सेंसेक्स में यस बैंक में सर्वाधिक 13.91 फीसदी गिरावट रही। वेदांता 7.76 फीसदी, बजाज फाइनें और टाटा मोटर्स चार फीसदी से अधिक, ओएनजीसी, हीरो मोटोकॉर्प, एसबीआई और आईसीआईसीआई बैंक तीन फीसदी से अधिक लुढ़के। एचडीएफसी व एचडीएफसी बैंक में दो फीसदी से अधिक गिरावट रही। रिलायंस इंडस्ट्रीज 1.91 फीसदी टूटा। दूसरी ओर टेक महिंद्रा में सर्वाधिक 1.54 फीसदी तेजी रही। बीएसई के रियल्टी सेक्टर में सर्वाधिक 6.01 फीसदी गिरावट रही।

मुख्य आर्थिक सलाहकार ने दिया राहत नहीं मिलने का संकेत
शेयर कारोबारियों के मुताबिक मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति सुब्रमणियन के बयान से आर्थिक राहत पैकेज नहीं मिलने का संकेत मिला और इसका निवेशकों के मनोबल पर बहुत बुरा असर पड़ा। कृष्णमूर्ति सुब्रमणियन ने एक कार्यक्रम में कहा कि यदि आप सोचते हैं कि हमेशा कुछ भी नकारात्मक दिखने पर सरकार करदाताओं के पैसे का इस्तेमाल करे, तो मेरे खयाल से आप ज्यादा नुकसान की बात कर रहे हैं। साथ ही आप ऐसी स्थिति की बात कर रहे हैं, जिसमें लाभ तो कुछ का होगा, लेकिन नुकसान सबका होगा।

कम वैल्यूएशन पर क्वालिटी स्टॉक, डिस्काउंट पर डिविडेंड ग्रोथ और आकर्षक कीमत पर हाई ग्रोथ यहां क्लिक करें और देखें- Stock Cash Trading Tips

Please follow and like us:
20