विदेशी निवेशकों को सरचार्ज में छूट नहीं, चाहें तो कॉरपोरेट रूट से निवेश कर सकते हैं: सीबीडीटी

40% विदेशी निवेशक नॉन-कॉरपोरेट रूट से निवेश करते हैं सरकार ने 2 करोड़ रु. से 5 करोड़ और 5 करोड़ से ज्यादा आय वालों पर सरचार्ज बढ़ाया है विश्लेषकों के मुताबिक इसी वजह से सोमवार को शेयर बाजार में 700 अंक की गिरावट आई थी

सीबीडीटी के चेयरमैन पी सी मोदी ने फॉरेन पोर्टफोलिया इन्वेस्टर्स (एफपीआई) को टैक्स पर बढ़े सरचार्ज में छूट देने की संभावना से इनकार किया है। मोदी ने बुधवार को कहा कि एफपीआई कम सरचार्ज देना चाहें तो उनके पास कॉरपोरेट फर्म में परिवर्तन का विकल्प है।

वित्त मंत्री ने बजट में सुपर रिच पर सरचार्ज बढ़ाया था
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में 2 करोड़ रुपए से 5 करोड़ रुपए और 5 करोड़ रुपए से अधिक आय वालों पर सरचार्ज बढ़ाने का ऐलान किया था। 40% एफपीआई भी इसके दायरे में आ गए क्योंकि, वे ट्रस्ट और एसोसिएशन जैसी नॉन-कॉरपोरेट फर्मों के जरिए निवेश करते हैं। आयकर कानून में इन्हें इंडिविजुअल माना जाता है।

विशेषज्ञों के मुताबिक कंपनियों के कैपिटल गेन पर सरचार्ज कम है। इसलिए, एफपीआई चाहें तो एक कंपनी के तौर पर निवेश कर सकते हैं। 60% विदेशी निवेशक यही रूट अपनाते हैं। हालांकि, वे दोनों (इंडिविजुअल और कंपनी) के फायदे नहीं ले सकते।

शुक्रवार को पेश किए गए आम बजट में सुपर रिच पर सरचार्ज बढ़ाने की घोषणा के बाद से शेयर बाजार में गिरावट जारी है। सोमवार को बड़ी गिरावट आई थी। सेंसेक्स 793 अंक के नुकसान में रहा था। कारोबार के दौरान 907 अंक की गिरावट आ गई थी। सीबीडीटी ने कहा था कि विदेशी निवेशकों पर सरचार्ज को लेकर स्थिति साफ की जाएगी।

न्यूज एजेंसी ने वित्त मंत्रालय के सूत्रों के हवाले बताया है कि सरकार विदेशी निवेशकों पर कम सरचार्ज लगाकर घरेलू निवेशकों से भेदभाव नहीं करना चाहती।

!!!! कम वैल्यूएशन पर क्वालिटी स्टॉक, डिस्काउंट पर डिविडेंड ग्रोथ और आकर्षक कीमत पर हाई ग्रोथ यहां क्लिक करें और देखें- Stock Cash Trading Tips

हमें कॉल करे अभी- 9644405057

Please follow and like us:
20