Browse Category: Indian Stock Market Tips

Rupee is expected to depreciate; USD/INR

Rupee opens at fresh 9-month low; down 18 paise

Share and Stock market platform where you can do your investments to get profit from, we provides you both Equity (Fx) and Commodity (Cx) recommendations just with a simple click here http://www.ripplesadvisory.com/free-trial.php

The Indian Rupee depreciated by 0.1 percent yesterday owing to persistent buying of the American currency by importers and banks amid higher US Dollar in the overseas market. The prospect of three more rate hikes in the US prompted the traders to park their funds in dollar denominated assets which affected India’s foreign inflows in turn.

Moreover, domestic markets i.e. Sensex and Nifty ended in red tracking losses in Asian market equities yesterday as markets discounted the geopolitical worries following attacks in Europe. For the month of December 2016, FII outflows in equities totaled at Rs. 887.16 crores ($129.54 million) as on 20 th Dec’16. Year to date basis, net capital inflows in equities stood at Rs. 27855.31 crores ($4242.27 million) as on 20 th Dec’16.

BKU wants decision to scrap wheat import duty revoked

The BKU on Tuesday decried the Centre’s recentmove to completely scrap duty on import of wheat and threatened a nation-wide protest in March next year if the decision is not revoked Addressing a press conference here, Bhartiya Kisan Union (BKU) General Secretary Yudhvir Singh demanded revocation of the government decision, which he said was taken “to facilitate traders at the cost of farmers’ lives”.

 “This year, the yield of wheat is surplus, about 10 per cent higher compared to the last year. Yet, the government scrapped import duty first to 10 % and now completely,” he said.”It wants a select few to own the sector and force farmers to work under them. It wants to ruin farmers.

Blaming the government for wrong and anti-farmer policies, Ajmer Singh Lakhowal, President of the BKU’s Punjab unit, said: “Farmers’ earning is less than their expenditure. They are in great distress and they are forced to commit suicide.”

Get live News Updates visit us at http://www.ripplesadvisory.com/services.php  or One Missed Call on @9303-093093.

Crude Oil Tepid Ahead Of Holiday Season

 Crude oil futures were trading on subdued note during afternoon trade in the domestic market on Tuesday as investors and speculators exited their positions in the energy commodity ahead of the upcoming Christmas weekend and the week running up to New Year.

 Investors begin to unwind positions without expecting to take up new ones until new year starts. Also, in the absence of any major price-moving news, markets would likely to remain tepid this week.

http://www.ripplesadvisory.com/services.php Click here and watch out the best Share and Stock Market recommendations or One missed call on @9303093093.

At the MCX, crude oil futures for January 2017 contract is trading at Rs 3,610 per barrel, down by 0.22 per cent, after opening at Rs 3,603, against a previous close of Rs 3,618. It touched the intra-day low of Rs 3,599.

किन शेयरों में करें खरीदारी, और कहां है बिकवाली की सलाह

Buy Low & Sell High
SUBSCRIBE NOW:  http://www.ripplesadvisory.com/free-trial.php

दिग्गज शेयरों में बहुत ज्यादा गिरावट के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। आगे बाजार की नजर नतीजों पर रहने वाली है। आने वाले समय में निफ्टी का दायरा 8000-8300 में रहने की उम्मीद है। एक बार 8000 तक टूटने के बाद फिर से बाजार में प्री-बजट रैली की उम्मीद की जा सकती है।

फार्मा, इंफ्रा और एनबीएफसी सेक्टर में बढ़त देखने को मिल सकती है। इस लिहाज से श्रेई इंफ्रा अच्छा लग रहा है। इंफ्रा पर सरकार के जोर की वजह से श्रेई इंफ्रा पसंद है। 6-12 महीने की अवधि में श्रेई इंफ्रा 100-125 रुपये तक जा सकता है।

चोलामंडलम फाइनेंस में भी निवेश करने की सलाह है। आगे इकोनॉमी में अच्छी ग्रोथ आनी शुरू होगी और इससे कमर्शियल व्हीकल सेगमेंट को बूस्ट मिल सकता है, इससे चोलामंडलम फाइनेंस को जरूर फायदा होगा। 6-12 महीने की अवधि में चोलामंडलम फाइनेंस 1200 रुपये का स्तर छू सकता है।

अपोलो टायर्स में बिकवाली की सलाह है। नोटबंदी से जिस तरह कंज्मयूर स्पेंडिंग पर असर हुआ है उसका अपोलो टायर्स को नुकसान संभव है। साथ ही कंपनी के कर्ज का बोझ भी ज्यादा बढ़ गया है। बढ़ते कर्ज के चलते कंपनी के नतीजों पर दबाव दिख सकता है।

मिस्त्री ने दिया टाटा ग्रुप की सभी कंपनियों से इस्तीफा

25cyrus1

You can also FOLLOW our BLOG and click here to SUBSCRIBE US on http://www.ripplesadvisory.com/free-trial.php

कल शाम सायरस मिस्त्री ने बड़ी लड़ाई की तैयारी का एलान करते हुए ग्रुप की सभी कंपनियों से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने रतन टाटा पर फर्जीवाड़े का इल्जाम लगाया और कहा कि रतन टाटा की अगुवाई में नियम-कानूनों की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। उन्होंने 2-जी घोटाले समेत दूसरी गड़बड़ियों के लिए भी रतन टाटा पर सवाल उठाए। मिस्त्री ने कहा कि वो कंपनी की विरासत बचाने के लिए अब तक लड़ रहे थे लेकिन अब वक्त आ गया है कि लड़ाई को ईजीएम से बाहर किसी बड़े प्लैटफॉर्म पर ले जाया जाए। उन्होंने रतन टाटा के खिलाफ कानूनी मोर्चा खोलने के संकेत दिए। बता दें कि कल से टाटा की 4 कंपनियों की ईजीएम होनी है।

वहीं टाटा संस ने मिस्त्री के इस्तीफे पर बयान जारी किया है और कहा है कि सायरस मिस्त्री ने रणनीति के तहत इस्तीफा दिया है और उनकी ओर से लगाए गए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। इस बयान में ये भी कहा गया है कि शेयरधारकों की बड़ी संख्या मिस्त्री के खिलाफ है और टाटा संस ग्रुप की प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है। गौरतलब है कि आज टाटा ग्रुप की कंपनी इंडियन होटल्स की ईजीएम होने वाली है और इस कंपनी में टाटा संस की 28 फीसदी हिस्सेदारी है।

Withdraw nod for 28 drug applications of Ranbaxy: Sun Pharma

ranbaxy-621x414

The customer support is one of the important key factor in the success and we are providing you Two days Free trial to Trade in Financial market experience and so on click here http://www.ripplesadvisory.com/free-trial.php

Drug major Sun Pharma today said one of its subsidiaries has voluntarily requested the US health regulator to withdraw approval for 28 Abbreviated New Drug Applications belonging to Ranbaxy Laboratories. In a BSE filing, Sun Pharmaceutical Industries said: “One of the company’s wholly-owned subsidiaries has voluntarily requested the USFDA to withdraw approval for 28 Abbreviated New Drug Applications (ANDAs)”.

It further said: “These older drug products belong to erstwhile Ranbaxy Laboratories and are not being marketed in the US since 2008.” In April 2014, Sun Pharma had announced the acquisition of the troubled rival Ranbaxy in an all-stock transaction worth USD 4 billion. Shares of Sun Pharma were trading 0.15 per cent lower at Rs 631.25 apiece on BSE.

Tata group to continue to hold EGMs in cos

tata2

For Forex and Commodity Market Trading view as : http://www.ripplesadvisory.com/free-trial.php

Indian Hotels will continue to hold its EGM today despite ousted Chairman Cyrus Mistry resigning from the boards of 6 listed Tata companies yesterday. The Tata Group will continue to hold EGMs as scheduled in these companies. The electronic voting deciding Mistry’s fate on the board of Indian Hotels, is already carried out.

Tatas are confident that they have the numbers in their favour. Just days before Tata Sons’ Extraordinary General Meeting (EGM), ex-Chairman Cyrus Mistry today resigned from six listed Tata group companies including Tata Chemicals , Indian Hotels , Tata Steel and Tata Motors with immediate effect. Talking about Mistry’s resignation, one of the minority shareholders in an interview to the channel said that it was a good thing he stepped down.

कमोडिटी बाजार में आज कहां लगाएं दांव

For more detail visit our website http://www.ripplesadvisory.com/services.php.

 नए साल की छुटि्टयों से पहले पोजीशन कटने के कारण आज कच्चे तेल की कीमतों पर दबाव देखा जा रहा है। हालांकि उत्पादन कटौती के कारण सप्लाई में कमी की आशंका बनी हुई है जिससे कच्चे तेल की कीमतों में ज्यादा गिरावट नहीं है। ब्रेंट करीब 54 डॉलर के पास कारोबार कर रहा है। जबकि नायमेक्स में क्रूड करीब 0.25 फीसदी टूटा है। हालांकि सोने में लगभग सपाट कारोबार हो रहा है। अगले साल अमेरिका में दरें और बढ़ने की संभावना से सोने पर दबाव है। सोने के उलट चांदी में तेजी के साथ कारोबार हो रहा है। निचले स्तरों पर खरीदारी से चांदी को सपोर्ट मिल रहा है। कॉमेक्स पर इसके दाम करीब 0.25 फीसदी बढ़े हैं। बेस मेटल्स में आज भी बिकवाली का दबाव देखा जा रहा है। चीन में कॉपर वायदा 2 फीसदी से ज्यादा टूटा है। कॉपर का स्टॉक बढ़ने से कीमतों पर दबाव है। जिंक में भी भारी बिकवाली दिख रही है।

                                    घरेलू बाजार में एमसीएक्स पर कच्चा तेल 0.3 फीसदी कमजोरी के साथ 3605 रुपये के आसपास नजर आ रहा है। जबकि नैचुरल गैस 0.8 फीसदी की कमजोरी के साथ 230 रुपये के आसपास कारोबार कर रहा है। एमसीएक्स पर सोना 0.5 फीसदी की कमजोरी के साथ 27120 रुपये के आसपास दिख रहा है। जबकि चांदी 0.4 फीसदी की गिरावट के साथ 39285 रुपये के आसपास कारोबार कर रही है।

  1.  जीरा एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा): बेचें – 17150 रुपये, स्टॉपलॉस – 17500 रुपये, लक्ष्य – 16700 रुपये.
  2. कपास खली एनसीडीईएक्स (जनवरी वायदा): खरीदें – 1935 रुपये, स्टॉपलॉस – 1900 रुपये, लक्ष्य – 1975 रुपये.
  3. कच्चा तेल एमसीएक्स (जनवरी वायदा): खरीदें – 3620 रुपये, स्टॉपलॉस – 3580 रुपये, लक्ष्य – 3680 रुपये.
  4. कॉपर एमसीएक्स (फरवरी वायदा): बेचें – 376 रुपये, स्टॉपलॉस – 379.2 रुपये, लक्ष्य – 370 रुपये.