IMF ने दिया भारत को झटका, 2019 के लिए 0.30% घटाकर 7% किया ग्रोथ अनुमान

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने मंगलवार को भारत को तगड़ा झटका दिया। आईएमएफ ने वर्ष 2019 और 2020 के लिए भारत के ग्रोथ अनुमान में 0.30 फीसदी की कमी करते हुए कहा कि दोनों वर्षों में देश की जीडीपी ग्रोथ क्रमशः 7 फीसदी और 7.2 फीसदी रहेगी। इससे भारत की घरेलू डिमांड अनुमान से ज्यादा कमजोर रहने के संकेत मिलते हैं।

सबसे तेजी से उभरती बड़ी इकोनॉमी बना रहेगा भारत
हालांकि वाशिंगटन के ग्लोबल फाइनेंशियल इंस्टीट्यूट ने कहा कि भारत दुनिया में सबसे तेजी से उभरती बड़ी इकोनॉमी बना रहेगा और यह चीन से कहीं आगे रहेगा। आईएमएफ ने अपने वर्ल्ड इकोनॉमिक अपडेट में कहा, ‘वर्ष 2019 में भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ 7 फीसदी रगेगी, जबकि 2020 में यह बढ़कर 7.2 फीसदी रहने का अनुमान है। ग्रोथ अनुमान में 0.30 फीसदी की कमी से घरेलू डिमांड उम्मीद से ज्यादा कमजोर रहने के संकेत मिलते हैं।’

टैरिफ वार से बढ़ा चीन पर दबाव
ग्लोबल इंस्टीट्यूशन ने कहा कि चीन में टैरिफ वार और कमजोर एक्सटर्नल डिमांड से पहले से ही स्ट्रक्चरल स्लोडाउन से जूझ रही इकोनॉमी पर दबाव बढ़ा है। इसके साथ ही कर्ज पर ज्यादा निर्भरता से जूझ रही चीन की इकोनॉमी में नियामकीय मजबूती लाने की जरूरत है।

पॉलिसी स्टिमुलस से चीन की इकोनॉमी को मिल सकता है सपोर्ट
आईएमएफ ने कहा कि पॉलिसी स्टिमुलस (राहत) से बाहरी झटकों के बीच इकोनॉमिक एक्टिविटीज को सपोर्ट मिलने का अनुमान है और इससे 2019 व 2020 में ग्रोथ क्रमशः 6.2 फीसदी व 6 फीसदी रहने का अनुमान है, जो अप्रैल के वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक से 0.10 फीसदी कम है।

ग्लोबल ग्रोथ का अनुमान
चिली की राजधानी सैंटियागो में रिपोर्ट जारी करते हुए आईएमएफ की भारतीय मूल की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता गोपीनाथ ने कहा कि आईएमएफ 2019 और 2020 के लिए ग्लोबल ग्रोथ के अनुमान को क्रमशः 3.2 फीसदी और 3.5 फीसदी कर रहा है।

!!!! कम वैल्यूएशन पर क्वालिटी स्टॉक, डिस्काउंट पर डिविडेंड ग्रोथ और आकर्षक कीमत पर हाई ग्रोथ यहां क्लिक करें और देखें- Stock Cash Trading Tips हमें कॉल करे अभी- 9644405057

Please follow and like us:
20