Stock Market: ट्रेड वार की आशंकाओं से मार्केट में बढ़ी गिरावट, सेंसेक्स 215 अंक कमजोर, निफ्टी 10650 से नीचे

ripplesadvisory

नई दिल्ली। ग्लोबल मार्केट में मिले-जुले संकेतों के चलते साल 2018 के दूसरी छमाही में घरेलू बाजार की फ्लैट शुरूआत हुई। हालांकि कारोबार के दौरान बिकवाली तेज होने से मार्केट में गिरावट बढ़ गई। सेंसेक्स 215 अंकों की कमजोरी के साथ 35208 के स्तर पर आ गया। वहीं, निफ्टी भी 72 अंक टूटकर 10642 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। ग्लोबल ट्रेड वार की आशंकाओं के चलते मार्केट में बिकवाली तेज है। बैंक और मेटल शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट है। आईटी और ऑटो को छोड़कर सभी इंडेक्स में गिरावट है।

किन शेयरों में तेजी, किनमें गिरावट

कारोबार के दौरान टाटा स्टील, बजाज ऑटो, टाटा मोटर्स, हिंदुस्तान पेट्रोलियम, टेक महिंद्रा, मारूति सुजुकी, बीपीसीएल, टाइटन कंपनी और इंफोसिस में करीब 3 फीसदी तक तेजी है। वहीं, वेदांता, आयशर मोटर्स, एलटीपीसी, गेल, आईटीसी, भारती एयरटेल, एल एंड टी, कोल इंडिया और नाल्कों में 3 फीसदी से ज्यादा गिरावट है।

मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी दबाव नजर आ रहा है। बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.1 फीसदी चढ़ा है, जबकि निफ्टी का मिडकैप 100 इंडेक्स सपाट नजर आ रहा है। बीएसई के स्मॉलकैप इंडेक्स 0.1 फीसदी तक तेजी है।

बैंक, मेटल और एफएमसीजी में तेज गिरावट

कारोबार के दौरान बैकं, मेटल और कंजम्पशन बेस्ड शेयरों में तेज गिरावट दिखी। निफ्टी पर 11 में से 9 इंडेक्स लाल निशान में कारोबार कर रहे हैं। पीएसयू बैंक इंडेक्स में 1.17 फीसदी, प्राइवेट बैंक इंडेक्स में 0.46 फीसदी, निफ्टी बैंक में 0.55 फीसदी, मेटल इंडेक्स में 1.35 फीसदी और एफएमसीजी इंडेक्स में 1.19 फीसदी की गिरावट दिख रही है। रियल्टी इंडेक्स में 0.57 फीसदी और फार्मा इंडेक्स में 0.05 फीसदी गिरावट है। आईटी और ऑटो इंडेक्स में हल्की तेजी है।

रुपए में 13 पैसों की रिकवरी
डॉलर के मुकाबले रुपए की शुरुआत सोमवार को 2 पैसे की कमजोरी के साथ हुई। हालांकि कारोबार के दौरान डॉलर की फ्रेश सेलिंग के चलते इसमें रिकवरी आई। कारोबार के दौरान रुपया 13 पैसों की मजबूती के साथ 68.33 प्रति डॉलर के स्तर पर है। वहीं, पिछले कारोबारी दिन यानी शुक्रवार को रुपए में रिकवरी देखने को मिली थी। डॉलर के मुकाबले रुपया 33 पैसे की मजबूती के साथ 68.46 के स्तर पर बंद हुआ। गुरूवार को रुपए ने ऑलटाइम लो टच किया था और पहली बार 69 प्रति डॉलर का भाव पार किया था। क्रूड की ऊंची कीमतों  और करंट अकाउंट डेफिसिट व महंगाई बढ़ने की आशंकाओं से रुपए को लेकर सेंटीमेंट्स सतर्क दिख रहा है।

ब्रेंट क्रूड 78 डॉलर प्रति बैरल के करीब 
ओपेक देशों द्वारा रोजाना 10 लाख बैरल क्रूड सप्लाई बढ़ाने के फैसले के बाद भी क्रूड की कीमतों में तेजी जारी है। अभी क्रूड 78 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर बना हुआ है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अभी क्रूड सप्लाई बढ़ाने के फैसले को अमल में लाने को लेकर संशय बना हुआ है। हालांकि ऐसी खबरें आ रही हैं कि जरूरत पड़ने पर सऊदी अरब सप्लाई बढ़ा सकता है, जिससे क्रूड में नरमी के संकेत मिल रहे हैं।

Best services for customers with full technical support make your Financial Trading more easy click here to subscribe us for free >>Ripples Advisory

Please follow and like us:
20